मामला सुलझा लेंगे: देवजी पटेल, टिकट मुझे या दानाराम को मिले: जीवाराम…

मामला सुलझा लेंगे: देवजी पटेल, टिकट मुझे या दानाराम को मिले: जीवाराम…

पार्टी तीन धड़ों में बंटी हुई, एकजुट कैसे करेंगे?

देवजी-पार्टी एकजुट है। टिकटार्थियों में कुछ समय के लिए जरूर नाराजगी रहती है। यह परिवार का विषय है। मिल बैठकर नाराजगी दूर करेंगे।

जीवाराम – तीन धड़े कहां है। मैं और दानाराम तो एक है। हमारे बीच किसी तरह का विवाद नहीं। देवजी की बात अलग।

दानाराम – यहां कोई धड़ा नहीं है। मैं और जीवाराम एक ही है। पार्टी कार्यकर्ता हमारे साथ है।

इस बार जीतने के लिए क्या रणनीति?

देवजी-विकास के नाम पर वोट मांगेंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की योजनाएं गिनाकर जनता के बीच जाएंगे। निश्चित रूप से हम चुनाव जीतेंगे।

जीवाराम – पार्टी आलाकमान तक अपनी बात पहुंचा दी है। हमें पूरा भरोसा है कि न्याय होगा।

दानाराम – पांच साल तक गांव-ढाणी तक मेहनत की। इस बार पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह है।

 सांचौर विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी सांसद देवजी पटेल को बनाए जाने के बाद भाजपा में बढ़ी कलह का अंत होता नहीं दिख रहा है। विवाद इतना आगे बढ़ चुका है कि एक तरफ प्रत्याशी पटेल का स्वागत हो रहा है तो दूसरी तरफ भारी विरोध। टिकट के प्रबल दावेदार रहे पूर्व विधायक जीवाराम और दानाराम चौधरी अब एक होकर आलाकमान के निर्णय का विरोध कर रहे हैं, जबकि देवजी आश्वस्त है कि दोनों को मना लिया जाएगा। पिछले दो दशक से सांचौर सीट हार रही पार्टी यहां तिराहे पर पहुंच गई है। पार्टी कार्यकर्ता भी असमंजस की स्थिति में है।

देवजी पटेल

चुनाव में क्या मुद्दे रहेंगे?

देवजी- सांचौर में कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल है। भ्रष्टाचार चरम पर है। महिलाओं की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ हो रहा है। ऐसे अनगिनत मुद्दे हैं जिनमें कांग्रेस विफल रही।

जीवाराम – पहले टिकट में संशोधन का इंतजार हैं। फिर मुद्दों को देखेंगे।

दानाराम – भ्रष्टाचार चरम पर है। सांचौर में लोगों का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई।

टिकट वितरण के बाद शुरू हुआ विरोध थमा नहीं, डैमेज कंट्रोल के कोई प्रयास?

देवजी पटेल- उनसे बातचीत चल रही है। मसला सुलझा लेंगे। इसके लिए प्रयास चल रहे हैं।

जीवाराम- डैमेज कंट्रोल की बात तो बाद की है। टिकट तो मैं और दानाराम मांग रहे थे। देवजी बीच में कहां से आ गए। पार्टी हम दोनों में से किसी एक को टिकट दे दें, डैमेज कंट्रोल अपने आप हो जाएगा।

दानाराम – मैंने और जीवाराम ने प्रदेश प्रभारी और प्रदेश अध्यक्ष को अवगत करा दिया है। कार्यकर्ताओं में भारी रोष है। हमें उम्मीद हैं न्याय होगा।