पांच राज्यों में पूरी ताकत झोंकने की तैयारी में विपक्ष, इनमें 212 सीटें हैं

IN.D.I.A. • समन्वय समिति की पहली बैठक आज दिल्ली में

विपक्षी गठबंधन इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इनक्लूसिव एलायंस (इंडिया) की समन्वय समिति की पहली बैठक बुधवार को दिल्ली में होनी है। एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के आवास पर होने वाली बैठक से पहले समिति के 14 सदस्यों एजेंडा तैयार किया है, जिसे अंतिम रूप दिया जाएगा। बैठक ऐसे समय हो रही है जब तृणमूल कांग्रेस की ओर से सदस्य अभिषेक बनर्जी को ईडी ने बुधवार को ही पूछताछ के लिए तलब किया है। वहीं, जदयू अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह की जगह बिहार सरकार के मंत्री संजय कुमार झा बैठक में शामिल होंगे।

राज्यों को 4 कैटेगरी में बांटा, दिक्कत चौथी श्रेणी को लेकर

दूसरी श्रेणी में राजस्थान, मप्र, गुजरात, हिमाचल, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ जैसे राज्य हैं, जहां लड़ाई कांग्रेस-भाजपा के बीच है। इनके लिए रणनीति राष्ट्रीय मुद्दों और प्रदेश की समस्याओं को मिलाकर बनेगी। तीसरी श्रेणी ओडिशा, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना है जहाँ उन दलों की सरकार है जो एनडीए या इंडिया किसी के साथ नहीं। यहां की रणनीति अगल होगी। श्रेणी में वे राज्य हैं जहां विपक्षी गठबंधन के दलों में मुकाबले की स्थिति बन सकती है। जैसे- पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, केरल और गोवा । इन राज्यों के लिए सीट शेयरिंग के फॉर्मूले पर फोकस रहेगा।

पहली बैठक में संयुक्त रैलियों, साझा प्रचार व सोशल मीडिया स्ट्रेटेजी पर फैसला होना है। पिछले महीने मुंबई बैठक में समन्वय समिति एवं चुनाव रणनीति समिति के अलावा 4 समितियां बनाई गई थीं। कैंपेन मीडिया वर्किंग ग्रुप, सोशल मीडिया वर्किंग ग्रुप और रिसर्च वकिंग ग्रुप ने भी आरंभिक रिपोर्ट बना ली है। इन पर भी समिति विचार करेगी। सूत्रों के अनुसार चुनाव और प्रचार का रोडमैप बनाने के लिए राज्यों की जमीनी राजनीति के हिसाब से कैटेगरी बनाई गई है।