खातीपुरा सैटेलाइट स्टेशन…छह माह से तैयार, ट्रेनें गुजरतीं मगर रुकती नहीं

जयपुर. रेलवे ने प्रदेश के इकलौते सैटेलाइट स्टेशन खातीपुरा को बनाकर भुला दिया है। यही कारण है कि इसके तैयार होने के छह माह बाद भी यहां सुपरफास्ट, एक्सप्रेस, मेल ट्रेनों का ठहराव शुरू नहीं हो पाया है। रेलवे अधिकारियों के पास भी इस बात का जवाब नहीं है कि यहां ट्रेनें क्यों नहीं रुक रहीं।

दरअसल, जयपुर जंक्शन पर बढ़ रहे यात्री भार को कम करने के लिए रेलवे ने 187.39 करोड़ खर्च कर खातीपुरा को सैटेलाइट स्टेशन बनाया था। यहां से मार्च में ही ट्रेनों का संचालन शुरू होना था, लेकिन अब तक यह तय नहीं हो पाया है कि यह कब शुरू होगा। रेलवे ने गत वर्ष मार्च में खातीपुरा स्टेशन शुरू करने का लक्ष्य तय किया था फिर लिंकिंग लाइन के अधूरे काम से लक्ष्य पिछले साल जून फिर दिसंबर हो गया। यही फिर इस साल फरवरी-मार्च तक बात पहुंच गई थी। यहां 25 मार्च को ही विद्युतीकरण समेत अन्य तकनीकी कार्य पूरे हो चुके हैं।

जंक्शन का भार कम करना था

खातीपुरा स्टेशन को दिल्ली सराय रोहिल्ला स्टेशन की भांति डवलप किया गया है। इससे दिल्ली व आगरा जाने वाली ट्रेनों को जयपुर जंक्शन की बजाय यहां से संचालित किया जा सके। इससे जंक्शन का यात्री भार कम हो। साथ ही आसपास बसी आबादी को फायदा मिले

  • स्टेशन पर प्लेटफार्म दो से बढ़कर चार हो गए। आठ लाइनें, सभी विद्युतीकृत।
  • भव्य इमारत बनाई गई। उसे हैरिटेज लुक दिया।
  • दो घुमटी बनाई जिसमें लाल पत्थर का उपयोग किया गया।
  • फुटओवर ब्रिज भी बनाए गए हैं।
  • पार्किंग एरिया, एस्केलेटर, बड़ा वेटिंग एरिया, नया टिकट घर, आरक्षण कार्यालय समेत कई अन्य सुविधाएं विकसित की गई हैं।