प्रदेश में 11.27 लाख महिलाओं को लखपति दीदी योजना से लाभान्वित करने का लक्ष्य

* लखपति दीदी योजना से बदल रहा महिलाओं का जीवन : राष्ट्रपति

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्ग को राजस्थान यात्रा का आज दूसरा दिन है। उदयपुर से हेलिकॉप्टर से बेणेश्वर धाम पहुंचों राष्ट्रपति ने टापू पर स्थित हरि मंदिर में दर्शन किए। अराग के राज्यपाल गुलाब चंद कटारिया, सीएम भजनलाल ने भी हरि मंदिर में दर्शन किए। मंदिर के महंत अच्युतानंद महाराज ने स्वागत किया। यहां महंत ने संत मावती महाराज की भविष्यवाणियों को लेकर राष्ट्रपति को जानकारी दी। बेणेश्वर धान स्वेग, माही और जखम नदियों के संगम पर एक टापू है। राष्ट्रपति बेणेश्वर धाम में राजीविकाको ओर से लखपति दोदी योजना के तहत महिला सम्मेलन में भाग ले रही है। ये आदिवासी महिलाओं को सम्मानित फरेगी। लखपति दोवी सम्मेलन में राष्ट्रपति ने कहा कि नाही, सोम और जाखन की त्रिवेणो पर बसी ने धरनी पवित्र है। अतिथि संस्कार राजस्थान की पहचान है। राजस्थान के आदिवासी समाज का इतिहास गौरवशाली है। महाराणा प्रताप को सेना में आदिवासी बीर थे। आदिवासी माताएं बहनें पतियों बेटों को मातृभूमि की रक्षा और सेवा के लिए खुशी- खुशी बिदा करती थी। आदिवासी समाज को महिलाएं प्रति कर रही हैं। लखपति दीदी जैसी योजना से महिलाओं का जीवन बदल रहा है। इसलिए इसमें टारगेट 2 करोड़ महिलाओं से बढ़ाकर 3 करोड़ किया गया है। पिछले साल दिसंबर में मैं जैसमेलर में लखपति दीदी सम्मेलन में आई और संबोधित किया था। देश भर में महिला स्वयं सहायता समूहों के कारण महिलाएं आत्मनिर्भर वन रही है। उन्होने कहा कि पहले दोदियख घूंघट में बैठी होती थी। आज ऐसा कोई पदनही जहां महिलाएं न पहुंची हों। महिला क्या नहीं कर सकती। उसे अषयर मिलना चाहिए, वह कुछ भो बन सकती है।

खुद से कहना चाहिए- मैं कर सका हूं। देश को आगे बढ़ने में सहगोग करूगी। इससे पहले सीएम भजनलाल ने इस अवसर पर कहा कि बागढ़ और राजस्थान की ओर से राष्ट्रपतिका स्वागत। बसंत पंचमी सरस्वती पूजा का दिन है। 3 करोड महिलाओं को लखपतिदोदी बनाने का सपना PM मोदी का है।

  • लखपति दीदी सम्मेलन में हैं मुख्य अतिथि

राष्ट्रपति बेणेश्वरम पर राजस्थान के विभिन्न साथ सहारा समूहों से जुडी अदिवासी नहलाओं के लखपति दी सम्मेलन में सटोर मुख्य अतिव भग से रही है। सम्मेलन में सखियों को मुख्यमंत्री द्वारा प्रत्येक की। हजार नकद पुरस्कार के तारा राष्ट्रपति द्वारा 250 करोड़ ऋण। उपहार चे। महिला निधि के तहत 50 करोड के का वितरण के बाद असम के राज्यपाल और उसके बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री का संबंधन होगा। इसके बाद राष्ट्रपति संबंधित विधानसभा करेंगी। इसके बाद शाम को 5 बजे के करीम है उदयपुर के लिए रवाना होगी।